कर्नाटक में कांग्रेस-बीजेपी आमने सामने, शाह बोले ‘झूठे हैं राहुल गांधी’

Spread the love

कर्नाटक: सूबे में चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं। देश की दोनों ही बड़ी पार्टियां कर्नाटक की सत्ता पर काबिज होने के लिए हर दांव पेंच खेलती हुई नजर आ रही है। जी हां, कर्नाटक में राहुल गांधी के अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित भी दौरे पर हैं, ऐसे में दोनों के बीच जबरदस्त नोंकझोंक देखने को मिल रहा है। आइये खबर पर एक नजर डालते हैं…

देश में कांग्रेस बैकफुट पर आ चुकी  हैं, ऐसे में पार्टी को फिर से निखारने और संवारने की जिम्मेदारी राहुल गांधी के कंधे पर आ चुकी हैं। हालांकि, राहुल गांधी अपनी तरफ से पूरी कोशिश करते हुए नजर आ रहे हैं, लेकिन कांग्रेस की हालत ज्यों की त्यों ही बनी हुई नजर आ रही हैं। बता दें कि राहुल गांधी के सामने सबसे बड़ी चुनौती कर्नाटक की सत्ता को बचाना है, तो वहीं दूसरी तरफ अमित शाह के लिए कर्नाटक में बीजेपी की छवि को मजबूत बनाना सबसे बड़ी चुनौती नजर आ रही है।

कर्नाटक में बीजेपी कांग्रेस आमने सामने

चुनाव को लेकर कांग्रेस औऱ बीजेपी दोनों ने ही कमर कस ली हैं। दोनोंं ही पार्टियां एक दूसरे पर जमकर आरोप लगाते हुए नजर आ रही हैं। बता दें कि राहुल गांधी जहां एक तरफ पीएम मोदी पर सीधा हमला करते हुए नजर आ रहे  हैं, तो वहीं दूसरी तरफ अमित शाह राहुल पर पलटवार करते हुए नजर आ रहे हैं।

कर्नाटक की जनता को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने सिर्फ उद्योगपतियों का ही कर्ज माफ किया है, और हमारी सरकार ने किसानों का कर्ज माफ किया है। इसके अलावा याद दिला दें कि राहुल गांधी कांग्रेस की छवि को मजबूत करने के लिए कर्नाटक में कहा था कि कांग्रेस मीन्स बिजनेस।

राहुल के आरोपों को खाजिर करते हुए अमित शाह ने कहा कि हमारी सरकार किसानों के हित के लिए ही काम करती हैं। साथ ही अमित शाह ने राहुल के उद्योगपतियों वाले आरोप को भी खारिज करते हुए कहा कि हमारी सरकार ने कभी भी किसी उद्योगपति का कर्ज माफ नहीं किया हैं। बीजेपी अध्यक्ष ने अपनी बात को आगे जारी रखते  हुए कहा कि राहुल गांधी को सिर्फ झूठ बोलना आता है, ऐसे में वो झूठें हैं।

ये भी पढ़े: कर्नाटक में जनता से बोले राहुल गांधी ‘मन की नहीं, काम की बात सुननी है तो हमें सुनो’

उत्तर प्रदेश में किसानों का कर्ज माफ किया: अमित शाह

राहुल के विकास मॉडल वाले आरोपों को खारिज करते हुए शाह ने कहा कि हमारी सरकार काम करने वाली है। इसके लिए उन्होंने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का भी उदाहरण दिया। जी हां, जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों की बकाया राशि का भुगतान केवल 90 दिनों के अन्दर किया गया, ऐसे में हमारी सरकार बातों वाली नही बल्कि काम करने वाली है।

बहरहाल, दोनों ही पार्टियां चुनावी रंग में रंग चुकी हैं, लेकिन यहां ये देखना दिलचस्प होगा कि आखिर जनता के दिल तक किस पार्टी की बात पहुंचती है औऱ कर्नाटक की सत्ता पर कौन काबिज होगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


hi