<

हैलो, मैं फ्लिपकार्ट से बोल रहा हूं, ‘मुबारक हो आपको 1280000 रुपये की लॉट्ररी लगी है’

ऑनलाइन के जमाने में जितना ज्यादा आराम हो गया है, उससे कहीं ज्यादा धोखाधड़ी के मामले भी सामने आ चुके हैं। जी हां, अगर आप भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो थोड़ा सावधान हो जाएं, क्योंकि शॉपिंग कंपनी के नाम पर देश में कई ऐसे गिरोह चल रहे हैं, जोकि आपको चूना लगाने में माहिर होते हैं। इसी कड़ी में हम आपके लिए एक ताजा मामला लेकर आएं हैं, जिसमें देश की नाम गामी ऑनलाइन कंपनी का नाम शामिल है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

क्या है मामला?

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में एक फ्लिपकार्ट के ग्राहक के साथ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है, जिसमें कंपनी का नाम लेकर ग्राहक से हजारो रुपये लूटे गये हैं। और यह कोई पहला मामला नहीं है, बल्कि इसी तरह के कई मामले आए दिन सामने आते रहते हैं। फ्लिपकार्ट के नाम से ग्राहक को कॉल किया गया और फिर उसे बोला गया कि आपने 1280000 रुपये का इनाम जीता है और इसके लिए आपको रजिट्रेशन शुल्क देना पड़ेगा। इस गिरोह में काम करने वाले लोग ग्राहक को कंपनी के नाम पर पूरी तरह से विश्वास में लेते हैं। तो चलिए जानते हैं कि यह गिरोह कैसे लोगों को अपना शिकार बनाता है।

पहले आता है ये मैसेज

यह गिरोह पहले ग्राहक को फ्लिपकार्ट के नाम से मैसेज भेजता है, जिसमेंं यह लिखा होता है कि आप फ्लिपकार्ट के लकी ग्राहक हैं, जिसका का नाम लकी ड्रा में आया है। कुछ इस तरह से होता है मैसेज – Dear Sir, Congratulation you are product order. Tv show Flipkart shopping result are out in the selected for name of winner lucky draw. Your name to open the lucky draw. You have two options. 1st is mahindra XUV 500 and 2nd is payment of Rs. 1280000. the charge of Registration service Rs.6500.

फिर ग्राहक को आते हैं ढेर सारे कॉल

इस मैसेज के बाद ग्राहक को हर 5 से 10 मिनट बाद कॉल आने लगती है। कॉल में ग्राहक को उसके लेटेस्ट प्रोडक्ट की जानकारी दी जाती है, जोकि उसने फ्लिपकार्ट से खरीदा होता है। जी हां, कॉल करने वाले शख्स को यह मालूम होता है कि आपने कितने का प्रोडक्ट खरीदा है और आपने क्या खरीदा है और कितने ऑफ खरीदा है। इस तरह की जानकारी देकर लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं और फिर उनसे पैंसे लेते हैं। इस गिरोह को यह भी पता होता है कि आपका घर कहां है और आपके घर पर यह प्रोडक्ट कब आया था। ऐसे करके ये अपनी बातों में लेते हैं और फिर लोगों से पैसे लूटते हैं।

पैसे ट्रांसफर देने के लिए देते हैं एकाउंट नंबर

ग्राहक को जब पूरी तरह से विश्वास में लेते हैं तब उसके बाद उससे पहले ग्राहक का एकाउंट नंबर लेते हैं और बोलते हैं कि 10 से 15 मिनट में आपके खाते में जीते हुए पैसे आ जाएंगे, लेकिन ऐसा होता नहीं है। इसके बाद वे ग्राहक से रजिस्ट्रेशन चार्ज के तौर पर 6500 रुपये ट्रांसफर के लिए कहा जाता है, जिसके वे एक एकाउंट नंबर देते हैं, जिसकी डिटेल्स इस तरह से हैं –

नाम – विजय कुमार

बैंक  का नाम – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

खाता नंबर – 62252479276

आईएफएससी कोड – SBIN0020040

जब ग्राहक ने पैसे भेज दिए तो उसके पास एक रजिस्ट्रेशन सक्सेसफुल का मैसेज आता है और फिर से उधर से कॉल आने लगती है, जिसमें यह कहा जाता है कि हम बैंक में है, लेकिन आपने टीडीएस फाइल नहीं किया है, इसलिए यह रकम नहीं ट्रांसफर हो सकती है और अगर आप यह रकम चाहते हैं तो आप 12800 रुपये और दीजिए ताकि आप यह रकम ले सके। इस तरह से यह गिरोह लोगों को अपना शिकार बना रहा है।

फ्लिपकार्ट पर लगा डाटा लीक का आरोप

जिस तरह से फ्लिपकार्ट का नाम लेकर ग्राहक के साथ यह धोखाधड़ी की गई है, उससे यह साफ जाहिर होता है कि फ्लिपकार्ट के माध्यम से किसी न किसी रुप में डाटा लीक हुआ है। क्योंकि इस गिरोह ने फ्लिपकार्ट का नाम लेकर ग्राहक से धोखाधड़ी हुआ है। फ्लिपकार्ट पर आरोप है, क्योंकि ग्राहक की सारी डिटेल उस गिरोह के पास थी, जोकि उसने सामान खरीदते हुए फ्लिपकार्ट को दी थी, जैसे – फोन नंबर, एकाउंट, क्या सामान खरीदा है और कितने का खरीदा है? यह सारी जानकारी उस गिरोह के पास थी, ऐसे में मामला फ्लिपकार्ट के ऊपर भी बनता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


<