<

विवादो के बीच सबरीमाला मे घुसी दो महिलाएं, शुद्धिकरण के लिए बंद किये गए मंदिर के दरवाज़े

सबरीमाला विवाद में एक नया मोड़ आया । 2 जनवरी यानि बुधवार को 2 महिलाओं ने दावा किया कि उन्होंने तड़के मंदिर के दर्शन किये। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से कई महिला श्रद्धालु और महिला सामाजिक कार्यकर्ता मंदिर जाने की कोशिश कर चुकी थी, लेकिन उन्हें सफलता नही मिली। इन दोनों महिलाओं के अंदर जाने के बाद ‘मंदिर की शुद्धि’ का हवाला देते हुए दरवाजे बंद कर दिए गए, जिन्हें दोपहर 12 बजे के आसपास दोबारा खोला गया।

केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने भी  मंदिर मे महिलाओं के जाने की पुष्टि की और कहा कि जो भी महिला मंदिर जाना चाहती है , उन्हें सुरक्षा दी जाये। इन दोनों ने पिछले महीने भी जाने का प्रयास किया था परंतु सफल नही हो पायी थी। 2 जनवरी को इनके जाने के बाद कथित तौर पर बीजेपी- RSS कार्यकर्ताओ ने मंदिर के पास पथराव किया, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

गौरतलब है कि जब कोर्ट के फैसले के बाद जब 18 अक्टूबर को पट खुले , तो तमाम महिलाये भगवान  अयप्पा के दर्शन करने पहुची। उस समय मंदिर के रस्ते मे हिंसा हुई, महिला पत्रकरो पर हमले किये गये, पथराव और लाठीचार्ज हुआ और लोगो को गिरफ्तार भी किया गया। महिलाओं को मंदिर से 20 किलोमीटर पहले रोक लिया गया था और कई महिलाओ को आधे रास्ते से ही लौटना पड़ा। इसे इस साल की एक नयी उपलब्धि के तौर पर लिया जा सकता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


<