चिराग पासवान का दांव, लोजपा अकेले लड़ सकती है चुनाव

Spread the love

बिहार के सियासी मैदान में NDA में तलवारें खिचती हुई नजर आ रही है। लोजपा के युवराज चिराग पासवान और जेडीयू प्रमुख नितीश कुमार एके बीच चुनावी समीकरण लगातार बिगड़ता जा रहा है । लोजपा विधानसभा चुनाव में कम से कम 47 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती हैं मगर नीतीश कुमार उनकी पार्टी को केवल 25 – 30 सीटें देने के मूड में हैं । इस तनातनी की गंभीरता इसी बात से लगाई जा सकती है कि चिराग पासवान ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओ की 15 अगस्त को आपातकालीन बैठक बुलाई थी।

चिराग पासवान हैं कालीदास?

तनाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नीतीश कुमार के पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद ललन सिंह ने बुधवार को चिराग पासवान की तुलना कालिदास से कर दी और कहा कि जिस डाल पर बैठते हैं उसी को काटते हैं । चिराग पासवान ने आज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाक़ात की थी और आपसी मतभेदों के समाधान पर चर्चा करते हुए नितीश कुमार के बर्ताव की शिकायत की थी । चिराग पासवान ने उनकी पार्टी द्वारा सुझाए गए “बिहार फ़र्स्ट, बिहारी फ़र्स्ट” के कार्यक्रम को न्यूनतम साझा कार्यक्रम में जगह मिले और सीटों के बँटवारे पर भी एक सहमति बने । अभी जो समीकरण बन रहें है उनसे चिराग पासवान काफी नाराज नजर आ रहें हैं ।

आपको बता दें कि पिछले कई महीनों से, खासकर कोरोना काल शुरू होने के बाद से ही चिराग बिहार सरकार की नीतियों पर हमलावर रहें है और समय समय पर सरकार के खिलाफ भी बोलते रहें हैं । वर्तमान परिस्थिति पर हालिया नजर डाले तो निश्चित रूप से बिहार एनडीए में सबकुछ सामान्य नहीं है और हो सकता है गठबंधन से लोजपा अलग हो जाये । चुनावी दौर में कुछ भी संभव हैं ।

 

Read more – 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


hi