पारा शिक्षकों के लिए खुशखबरी: हेमंत सरकार ने तैयार किया स्थायीकरण और वेतनमान नियमावली का प्रस्ताव

Spread the love

झारखंड राज्य में पारा शिक्षकों के लिए एक खुशखबरी है। ‌ राज्य में हेमंत सोरेन की सरकार ने पारा शिक्षकों की स्थायीकरण और वेतनमान सेवा नियमावली के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। ‌ इस प्रस्ताव को भी पूरी तरह से पारित किया नहीं जा सका है मगर सरकार इसे कैबिनेट में भेजने की तैयारी कर रही है। ‌ एक बार यह प्रस्ताव कैबिनेट से पारित हो जाए तो फिर इसका लाभ शीघ्र ही पारा शिक्षक को मिलने लगेगा।

पारा शिक्षकों ने हेमंत सरकार को दिया था अल्टीमेटम:-

लंबे समय से पारा शिक्षक अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं। आज होकर पारा शिक्षकों ने झारखंड में हेमंत सरकार को अल्टीमेटम दे दिया था कि अगर सरकार उनकी सेवा शर्त नियमावली और स्थायीकरण की मांग को पूरा नहीं करेगी तो आंदोलन करेंगे। ‌आपको बता दें कि झारखंड राज्य में पारा शिक्षक कई बार अपने अधिकारों को लेकर आंदोलन कर चुके हैं और हर बार उनकी आवाज को दबा दिया गया है।

पारा शिक्षकों को पास करनी होगी परीक्षा, तभी मिल सकेगा लाभ:-

ऐसा बताया जा रहा है कि पारा शिक्षक को एक परीक्षा देनी होगी। ‌परीक्षा में पास होने के बाद ही पारा शिक्षकों का वेतनमान लागू नहीं मिलेगा। बताया जा रहा है कि पारा शिक्षक को परीक्षक ने तीन मौके दिए जाएंगे। ‌हालांकि अभी तक परीक्षा का स्वरूप तैयार नहीं किया जा सका है। बताइए अभी जा रहा है कि शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो की ओर से एक उच्चस्तरीय कमेटी का गठन करने की सहमति दे दी गई है जो पारा शिक्षक की समस्या का समाधान करेगी। ‌

बहराल आपको बता दें कि पारा शिक्षक को हर बार आश्वासन दिया गया है मगर अभी तक उनके हित का किसी ने भी कोई फैसला नहीं किया है। ‌ अब देखना है कि हेमंत सोरेन की सरकार ने पारा शिक्षक को वेतनमान और नियमावली के प्रस्ताव को स्वीकृत करने की बात तो कही है मगर क्या वाकई पारा शिक्षकों को उनका अधिकार मिल पाएगा यह आने वाला समय ही बताएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


hi