अखिलेश ने इशारों ही इशारों में किया बड़ा ऐलान, ‘इस शख्स को बनाएंगे अगला पीएम’

0
46
अखिलेश यादव

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी पार्टियों के बीच सरगर्मियां तेज हो चुकी है। जी हां, अखिलेश यादव अब इस बात पर खुलकर बोलने लगे हैं कि आगामी चुनाव वो तमाम विपक्षी पार्टियों के साथ ही लड़ेंगे। मतलब साफ है कि अखिलेश गठबंधन के लिए पूरी तरह से राजी है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राहुल के उस बयान पर तो पहले ही पानी फेर दिया था, जिसमें राहुल ने पीएम बनने का सपना देखा था। अब सवाल ये खड़ा होता है कि अखिलेश यादव किसको पीएम बनाना चाहते हैं। अगर वो शख्स राहुल नहीं, तो कौन?

क्या वो शख्स मायावती हो सकती हैं? क्योंकि बीते दिनों कुछ इस तरह की अफवाहे उड़ रही थी कि अखिलेश यूपी के सीएम बनेंंगे तो वहीं मायावती केंद्र में होगी। मायावती के पास अखिलेश से ज्यादा अनुभव है। और बातो ही बातों में मायावती भी कहती हैं कि अखिलेश अभी राजनीति में नये हैं।

Loading…

 

राहुल और अखिलेश की दोस्ती तो यूपी तक ही सीमित दिखाई दे रही है। हालांकि, दोनों की दोस्ती की नई परिभाषा देखने को मिल सकती है, अगर अखिलेश कुमारस्वामी के शपथ समारोह में शामिल होने के लिए गये। हालांकि, अखिलेश राहुल से थोड़ा थोड़ा कटने लगे हैं। यही वजह है कि अखिलेश कर्नाटक में प्रचार करने भी नहीं गये।

नेताजी को पीएम बनाना चाहते हैं अखिलेश

अब भला एक बेटा अपने पिता का ख्याल नहीं रखेगा, तो कौन रखेगा? ये बात तो जगजाहिर है कि मुलायम सिंह यादव पीएम बनाना चाहते हैं। ऐसे में अब जब अखिलेश यादव गठबंधन की बात कर रहे हैं तो क्यों न मुलायम का ये सपना पूरा किया जाए? दरअसल, अखिलेश यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि विपक्षी दल मिलकर आगामी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे और एक सर्वमान्य नेता इसका मुखिया होगा।

अखिलेश यादव की बातो से साफ साफ जाहिर होता है कि वो मुलायम को पीएम उम्मीदवार के तौर पर देख रहे हैं। लेकिन सवाल ये खड़ा होगा कि मुलायम सिंह की तो मायावती से जरा भी नहीं बनती है, तो क्या मायवती भतीजे की इस इच्छा को पूरा करने के लिए मुलायम के नाम पर सहमति बनाएंगी या नहीं, ये तो वक्त ही बताएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here